वीर्य गाढ़ा करने के उपाय और घरेलू उपचार

Ayurveda
संतुलित की स्थिति में शरीर के अन्दर वीर्य [Semen] नहीं बन पाता या ठहर नहीं पाता और इस कारण शरीर तेजहीन, उदास और निष्काम हो जाता है। ऐसी स्थिति में वीर्य बन भी जाता है तो पतला या बिना शुक्र के ही बन पाता है जिसे हम वीर्य की कमी कहते हैं।

वीर्य गाढ़ा करने के उपाय और घरेलू उपचार

  • वीर्य को गाढ़ा बनाने के लिए बहुत सारे घरेलू उपाय हें | लेकिन इन तरीकों का इस्तेमाल करने से आपको थोड़ी ज्यादा वक्त के बाद फर्क नजर आएगा, लेकिन यह फर्क आपको लंबे समय तक महसूस होगा | वीर्य को गाढ़ा बनाने के लिए आपने आपके भोजन में ज्यादा से ज्यादा विटामिन युक्त पदार्थों का सेवन करना चाहिए | विटामिन वीर्य को गाढ़ा बनाने में बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होते है, विटामिन A शरीर में पर्याप्त मात्रा में रहने से आपके वीर्य का विकास तो होगा ही लेकिन आपकी संभोग शक्ति भी बढ़ने लगेगी |
  • बहुत सारे पुरुष वीर्य को गाढ़ा बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के सप्लीमेंट्स का सेवन करते हैं, अगर आप प्राकृतिक सप्लीमेंट का इस्तेमाल करोगे तो कोई प्रॉब्लम नहीं है | आपने विटामिंस, मिनरल्स इन खनिजों का भी सेवन करना चाहिए | आपने अपने भोजन में ज्यादा से ज्यादा कद्दू के बीज, अखरोट, बादाम, इन चीजों का सेवन करना चाहिए |
  • वीर्य को गाढ़ा बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा ओमेगा ३ सेवन करना भी अच्छा होता है | ओमेगा-३ में ऐसे तत्व होते हैं जो पुरुषों के सारे सेक्सुअल प्रॉब्लम्स को हल कर देता है | ओमेगा ३ फैटी एसिड पुरुषों के लिंग के लिए भी असरदार होते हैं | ओमेगा ३ फैटी एसिड युक्त पदार्थों का सेवन करने से पुरुषों का वीर्य पूरी तरह से गाढ़ा तो होता ही है लेकिन वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या भी बढ़ने लगती है जिसके कारण आप आसानी से महिला को प्रेग्नेंट कर सकते हो |
  • ओमेगा-३ का सेवन आपने थोड़े थोड़े दिनों में करना चाहिए ओमेगा ३ फैटी एसिड, फिश, अखरोट, फिश ऑयल, इन चीजों में ज्यादा होता है | इसलिए इन चीजों का सेवन आपने किसी एक्सपर्ट से सलाह लेकर करना चाहिए, ओमेगा ३ फैटी एसिड का किसी प्रकार का नुकसान नहीं है | इसलिए इस पदार्थ का सेवन करते वक्त किसी प्रकार का संदेह मन में ना रखें |
  •  

     वीर्य गाढ़ा करने के उपाय और चिकित्सा

    1. चोब चीनी : चोब चीनी को दूध में उबालकर 3 से 6 ग्राम को मस्तगी, इलायची और दालचीनी के साथ सुबह-शाम खाने से धातु (वीर्य) की कमी दूर होती है।
    2. छोटी माई : छोटी माई का चूर्ण 2 से 4 ग्राम सुबह-शाम खाने से धातु (वीर्य) की कमी व कमजोरी दूर होती है।
    3. गुरुच : गुरुच का चूर्ण आधे से एक ग्राम सुबह-शाम शहद के साथ खाने से लाभ होता है।
    4. गुंजा : गुंजा की जड़ 2 ग्राम को दूध में पकाकर रोज रात को खाना खाने से पहले खाने से वीर्य के सभी रोग खत्म हो जाते हैं।
    5. गुलशकरी : गुलशकरी की जड़ 6 ग्राम से 10 ग्राम को मिश्री मिले दूध के साथ दिन में सुबह और शाम खाने से वीर्य की कमी दूर होती है।
    6. शतावरी : शतावरी का चूर्ण 10 ग्राम से 20 ग्राम चीनी और दूध के साथ पेय बना कर सुबह-शाम सेवन करने से धातु (वीर्य) का पतलापन मिट जाता है।
    7. सिरस : सिरस के बीजों का चूर्ण 1 से 2 ग्राम मिश्री मिले गाय के दूध के साथ सुबह-शाम खाने से लाभ मिलता है। सिरस की छाल और फूल बराबर मात्रा में पीसकर 30 दिनों तक रोज 1 चम्मच सुबह-शाम गर्म दूध के साथ फंकी लेने से वीर्य गाढ़ा होकर मर्दाना ताकत बढे़गी तथा शुक्राणुओं की वृद्धि होती है। सिरस के बीजों का 2 ग्राम चूर्ण, दोगुनी चीनी मिलाकर रोज गरम दूध के साथ सुबह-शाम लेने से वीर्य बहुत गाढ़ा हो जाता है।
    8. मखाना : मखाना की खीर बराबर रूप से खाने से वीर्य की कमी दूर होती है।
    9. मुनक्का : मुनक्का खाने से धातु में वृद्धि होती है।
    10. छुहारा : छुहारा बराबर रूप से दूध में उबालकर खाने से वीर्य बढ़ता है।
    11. कलम्बो (करनी) : कलम्बो (करनी) का साग रोज खाने से शुक्र की कमी दूर होती है और जल्द लाभ नजर आता है।
    12. काहू : काहू के बीज का चूर्ण 1 से 3 ग्राम की मात्रा में सुबह और शाम मिश्री मिले दूध के साथ खाने से वीर्य गाढ़ा होता है।
    13. प्याज : प्याज और अदरख का रस बराबर भाग में लेकर रोज सुबह-शाम शहद के साथ खाने से खोयी हुई जवानी लौट आती है।
    14. हत्था जोरी : हत्था जोरी के पंचांग (जड़, तना, फल, फूल, पत्ती) के मिश्रण 40 ग्राम से 80 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम खाने से वीर्य की कमी और वीर्य की कमजोरी दूर होती है।
    15. उड़द : उड़द की दाल को पीसकर नमक, कालीमिर्च, जीरा, हींग, लहसुन अदरक आदि को डालकर घी में तलकर दही में मिलाकर खाने से वीर्य बढ़ता है।
    16. शिलाजीत : थोड़ी मात्रा में गाय के दूध में घोल कर रोज सुबह-शाम 2-3 महीने तक खाने से धातु (वीर्य) की कमजोरी और अन्य बीमारी दूर हो जाती है।
    17. दालचीनी : दालचीनी के तेल में 3 गुना जैतून का तेल मिलाकर शिश्न पर लगाने से मर्दानगी लौट आती है। ध्यान रहे इस पर ठंड़ा पानी न पड़े। दालचीनी का चूर्ण कर एक चम्मच की मात्रा में खाना खाने के बाद रोज 2 बार दूध के साथ लेने से लाभ होता है।
    18. आंवला : रोजाना एक बड़े आंवले के मुरब्बे को खाने से मर्दाना ताकत आती है।
    19. खजूर : खजूर रोज गर्म दूध के साथ खाने से कुछ ही दिनों में वीर्य बढ़ जाता है।
    20. केसर : केसर को दूध में कुछ दिनों तक डालकर खाने से शीघ्रपतन दूर हो जाता है।
    21. बेल : बेल की जड़ की छाल को जीरे के साथ पीसकर घी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से वीर्य का पतलापन दूर होता है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.

    Related Posts

    कैंसर के बाद HIV का इलाज मिला
    Ayurveda

    कैंसर के बाद HIV का इलाज मिला: रिसर्च में दावा- वैक्सीन की सिर्फ एक डोज से बीमारी खत्म होगी; जानें कैसे करती है काम

    कैंसर के बाद अब वैज्ञानिकों ने HIV/AIDS जैसी जानलेवा बीमारी का भी इलाज ढूंढ लिया है। इजराइल की तेल अवीव यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स एक ऐसी

    Consuming 2 spoons of ghee on an empty stomach everyday will bring terrible changes in the body
    Ayurveda

    रोज़ खाली पेट 2 चम्मच घी खाने से शरीर में होंगे भयंकर बदलाव

    सुबह उठकर खाली पेट सिर्फ 1 चम्मच देसी घी से आपके शरीर को मिलेंगे ये 6 गजब के फायदे, शरीर रहेगा चुस्त-दुरुस्तहेल्दी रहने के लिए