बवासीर | Piles | Hemorrhoids | खूनी या बादी बवासीर जड़ से करें खत्म | Ayurvedic treatment for piles

Ayurveda
बवासीर | Piles | Hemorrhoids | खूनी या बादी बवासीर जड़ से करें खत्म

 मलाशय में जलन और सूजन और गुदा में बेचैनी और रक्तस्राव है तो इन घरेलू उपचार से बवासीर को ठीक किया जा सकता है । बवासीर आमतौर पर मल त्याग, मोटापा, या गर्भावस्था के दौरान तनाव से उत्पन्न होते हैंबवासीर का प्रमुख कारण पेट की खराबी व पाचन तन्त्र का कमजोर होना है।
  इसके अतिरिक्त कारण निम्न हैं ;

  1. लम्बे समय तक कब्ज रहना
  2. मलत्याग के समय जोर लगाना
  3. टॉयलेट में काफी देर तक बैठना
  4. हेरिडिटि (वन्शानुगत कारण)
  5. अतिसार (दस्त)

बवासीर बचाव के उपाय

  1. भोजन सम्बन्धी आदतों में बदलाव – रेशेदार सब्जियों, सलाद व फलों का नित्य सेवन करें, तेज मिर्च, मसालों का प्रयोग ना करें। पानी ४-६ लीटर प्रतिदिन पियें। चाय, कॉफी का कम प्रयोग करें। इससे पेट ठीक रहेगा व कब्ज नहीं होगी।
  2. मलत्याग के समय ज्यादा जोर ना लगायें। यदि कब्ज हो तो रात में दूध के साथ मुनक्का व १-२ चम्मच इसबगोल की भूसी लें।


एलो वेरा
एलो वेरा में कई समस्याओं का इलाज छिपा है। यह सिर्फ स्किन को सॉफ्ट और स्पॉटलेस बनाने के लिए ही इस्तेमाल नहीं किया जाता बल्कि पाइल्स की बीमारी में भी यह काफी आराम देता है। हालांकि पाइल्स के लिए फ्रेश एलो वेरा जैल यानी एलो वेरा की पत्ती से तुरंत निकाला गया जैल यूज करना चाहिए। इस जैल को पाइल्स वाले हिस्से में बाहर की तरफ लगाएं। दिन में कम से 2-3 बार इस जैल को लगाएं।

आइस पैक
आइस पैक को भी पाइल्स की बीमारी में काफी लाभदायक माना गया है। प्रभावित हिस्से पर आइस पैक से सिकाई करें। चाहे तो बर्फ के टुकड़े लेकर उन्हें एक कपड़े में लपेट लें और फिर प्रभावित हिस्से पर लगाएं। रोजाना 5 से 10 मिनट इस तरह सिकाई करने से पाइल्स की समस्या में आराम मिलेगा।

जामुन की गुठली
जामुन की गुठली को सुखाकर पीस लें। रोजाना एक चम्मच की मात्रा में हल्के गर्म पानी या छाछ के साथ सेवन करने से खूनी बवासीर में लाभ मिलेगा।
 
काली मिर्च
काली मिर्च और जीरा पाउडर को आधा चम्मच शहद के साथ मिलाकर लें। पाइल्स की समस्या दूर होगी।
 
आंवला पाउडर
आंवला पाउडर को पानी के साथ रात भर मिट्टी के बर्तन में डालकर रख दें। सुबह चिरचिटा की जड़ और मिश्री मिलाकर पीएं।
 
किशमिश
100 ग्राम किशमिश को रात को पानी में भिगो दें। सुबह किशमिश को पानी में मसलकर पी लें। रोजाना ऐसा करने से बवासीर की समस्या ठीक हो जाएगी।
 
हरड़ पाउडर
1/2 चम्मच हरड़ पाउडर को रोजाना गुनगुने पानी के साथ लें। इससे कुछ समय में ही पाइल्स की समस्या दूर हो जाएगी।

बड़ी इलायची
बवासीर के उपचार के लिए बड़ी इलायची बहुत कारगार उपाय है। इसे प्रयोग करने के लिए 50 ग्राम बड़ी इलायची को तवे पर रख कर अच्छी तरह से भून लें और फिर ठंडा करके इसे पीस लें। रोजाना खाली पेट इस चूर्ण का पानी के साथ सेवन करें।
 
अंजीर
रात को 3-4 से अंजीर को भिगोने के लिए रख दें। सुबह उठकर इसको पीसकर खाली पेट खाएं। कुछ दिनों तक लगातार एेसा करने से बवासीर की प्रॉब्लम से राहत मिलेगी।
 
दालचीनी
इसके लिए 1 चम्मच शहद में 1/4 चम्मच दालचीनी चूर्ण मिलाएं और रोजाना खाएं। बवासीर से बहुत जल्दी छुटकारा मिलेगा।

बवासीर में इन बातों का रखें खास ख्याल

  1. इस बीमारी के दौरान नहाते समय गर्म पानी का इस्तेमाल करें और हमेशा बैठ कर नहाएं। इसके अलावा बवासीर वाली जगहें को कॉटन के कपड़े से अच्छी तरह साफ करें।
  2. सूजन और दर्द को कम करने के लिए आइस पैक से कुछ देर सिंकाई करें।मस्सों पर होने वाली खुजली को दूर करने के लिए पैट्रोलियम जैली को मस्सों पर लगा कर रखें।
  3. बवासीर की बीमारी में हमेशा कॉटन अंडरवियर ही पहनें। कॉटन अंडरवियर पस या खून निकलने पर चिपकती नहीं।
  4. एक दिन में कम से कम 6-8 गिलास पानी पीने से बवासीर दर्द से राहत मिलती है।इसके अलावा इस बीमारी में ज्यादा से ज्यादा आराम करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Consuming 2 spoons of ghee on an empty stomach everyday will bring terrible changes in the body
Ayurveda

रोज़ खाली पेट 2 चम्मच घी खाने से शरीर में होंगे भयंकर बदलाव

सुबह उठकर खाली पेट सिर्फ 1 चम्मच देसी घी से आपके शरीर को मिलेंगे ये 6 गजब के फायदे, शरीर रहेगा चुस्त-दुरुस्तहेल्दी रहने के लिए