गर्भावस्था में खून की कमी (एनीमिया) – लक्षण, कारण और इलाज

Ayurveda
गर्भावस्था में खून की कमी (एनीमिया) लक्षण, कारण और इलाज:

 शरीर में खून की कमी हो जाना बेहद खतरनाक है और वो भी ऐसी स्थिति में जबकि महिला के गर्भ में ही एक और जान पल रही हो, इसे लापरवाही से लेना मां और बच्चे दोनों के लिए परेशानी का कारण हो सकता है।

जाने इस video में गर्भावस्था में खून की कमी (एनीमिया) – लक्षण, कारण और इलाज प्रेगनेंसी में खून की कमी दूर करने के लिए क्या खाएं

 

गर्भावस्था में आपको ऐसे लक्षण नज़र आएं तो यह खून की कमी (anemia in hindi) को दर्शाते हैं –

  1.     गर्भवती के होंठ, नाखून, त्वचा और आंखें पीली पड़ने लगती हैं।
  2.     आपको हर समय थकान और कमज़ोरी महसूस होने लगती है।
  3.     आपको चक्कर (dizziness in hindi) आ सकते हैं।
  4.     सांस लेने में तकलीफ (breathlessness in hindi) हो सकती है।
  5.     दिल की धड़कनों की गति बढ़ सकती है।

गर्भावस्था में एनीमिया के क्या कारण है? 

गर्भावस्था में एनीमिया के क्या कारण है? (garbhavastha me anemia ke kya karan hai?) कुछ लोगों को लगता है कि एनीमिया (anemia in hindi) यानी खून की कमी आयरन की कमी के कारण होती है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एनीमिया (anemia in hindi) आयरन की कमी के साथ-साथ अन्य पोषक तत्वों की कमी के कारण भी हो सकता है। जानिए आयरन (iron in hindi) सहित और किन-किन की कमी से एनीमिया हो सकता है –

  1.     आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया (anemia in hindi)।
  2.     फोलेट की कमी से होने वाला एनीमिया (anemia in hindi)।
  3.     विटामिन बी12 की कमी से होने वाली एनीमिया (मेगालोब्लास्टिक एनीमिया)।

हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए? 

 गर्भवती को खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए?

  1.  गर्भवती के खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के लिए उसके भोजन में आयरन युक्त खाद्य पदार्थ जैसे सोयाबीन, पालक, अंजीर आदि शामिल करें।
  2.  फॉलेट (folate in hindi) एक तरह का विटामिन बी (vitamin b in hindi) होता है, जो हीमोग्लोबिन के निर्माण के लिए ज़रूरी है। 
  3. इसलिए गर्भवती महिला का भोजन फॉलेट युक्त खाद्य पदार्थों जैसे मूंगफली, राजमा, चावल, पालक आदि से भरपूर होना चाहिए।
  4. गर्भवती के शरीर में आयरन का अवशोषण सही तरह से होने के लिए उसके भोजन में विटामिन सी और ए (vitamin c, a in hindi) होना बहुत ज़रूरी है।
  5.  विटामिन सी के लिए आप खट्टे फल जैसे संतरा, टमाटर, आदि खा सकती हैं और विटामिन ए के लिए आप शकरकन्द, गाज़र, मछली आदि खा सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Consuming 2 spoons of ghee on an empty stomach everyday will bring terrible changes in the body
Ayurveda

रोज़ खाली पेट 2 चम्मच घी खाने से शरीर में होंगे भयंकर बदलाव

सुबह उठकर खाली पेट सिर्फ 1 चम्मच देसी घी से आपके शरीर को मिलेंगे ये 6 गजब के फायदे, शरीर रहेगा चुस्त-दुरुस्तहेल्दी रहने के लिए