आंखों की रोशनी बढ़ेगी 20 गुना अपना लो ये प्राचीन ग्रंथों के उपाय

Ayurveda
पुराने समय में लोगों के आंखों की रोशनी केवल बढ़ती उम्र में कम होती थी लेकिन लाइफस्टाइल बदलने के कारण अब बच्चों की आंखों की रोशनी भी कम होने लगी है।

 बच्चों को भी मोट शीशे के चश्मे लग रहे हैं। हम आपको ऐसे आयुर्वेदिक नुस्खे जो आंखों की रोशनी बढ़ेगी 20 गुना अपना लो ये प्राचीन ग्रंथों के उपाय Treatment for Eyesight Problems के लिए उपाय बताएंगे, जिससे आप अपनी और अपने बच्चों के आंखों की रोशनी बढ़ा सकेंगे।

1. नींद पूरी न होने, आंखों में अवांछित कणों के जाने या फिर अधि‍क थकान होने पर आंखों में लालिमा आ जाती है। इसके लिए आंवले के पानी से आंखें धोने से या गुलाबजल डालने से लाभ होता है।
2. आंखों पर चोट लगने, जलने, मिर्च मसाला या कीट के आंख में जाने पर आंख लाल हो, तो दूध गर्म करके उसमें रूई का फुआ डालकर ठंडा करके आंखों पर रखने से लाभ होता है।
3. आंखों में दर्द होने पर जामफल के पत्तों की पुल्टिस बनाकर (20-25 पत्तों को पीसकर, टिकिया जैसी बनाकर, कपड़े में बांधकर) रात्रि में सोते समय आंख पर बांधने से आंखों का दर्द मिटता है एवं सूजन और वेदना दूर होती है।
4.  हल्दी की डली को तुअर की दाल में उबालकर, छाया में सुखाकर, पानी में घिसकर सूर्यास्त से पूर्व दिन में दो बार आंख में अंजन करने से आंखों की लालिमा, झामर एवं फूली में लाभ होता है।
5. आंखों के नीचे के कालापन होने पर सरसों के तेल की मालिश करने से तथा सूखे आंवले एवं मिश्री का चूर्ण समान मात्रा में 1 से 5 ग्राम तक सुबह-शाम पानी के साथ लेने से काफी लाभ होता है।

आँखों के कमज़ोर होने के कुछ कारण

  1. भोजन में विटामिन ए की कमी होने से कम उम्र में भी रौशनी कम हो जाती है।
  2. कई घंटों तक लगातार कंप्यूटर पर काम करने से आँखों की नमी कम होने लगती है। आँखें सूखने लगती हैं, और आँखों की रौशनी कम हो जाती है।
  3.  लगातार कई घंटों तक टीवी देखने से भी आँखें कमज़ोर हो जाती हैं।
  4.  लगातार कई घंटों तक पढ़ाई करते रहना। यदि पढ़ाई करने वाली जगह पर रौशनी का उचित प्रबंध न हो तो यह भी आँखों के लिए नुक्सानदायक हो सकता है।
  5. धूल-मिट्टी या अन्य प्रदूषण से आखों में होती है समस्या।
  6. भरपूर नींद न लेना, इससे भी आँखों पर बुरा असर पड़ता है।
  7. लेटकर पढ़ाई करने और लेटकर टीवी देखने से आँखों पर ज़ोर पड़ता है। इससे आँखों की मांसपेशियां कमज़ोर हो जाती है।
  8. अँधेरे में मोबाइल फ़ोन पर देर रात तक गेम खेलने से भी आँखों पर बुरा असर पड़ता है। ऐसा करने से ऑंखें कमज़ोर हो जाती हैं।

आँखों की रौशनी बढ़ाने के आसान तरीके

आँखें हमारे शरीर का सबसे कोमल और महत्वपूर्ण अंग है। इसलिए इसे सुरक्षित एवं स्वस्थ रखना बहुत ज़रूरी है। यहाँ हम आँखों की रौशनी बढ़ाने के आसान तरीके आपको बता रहे हैं।

  1. गुलाब जल से आँखें धोएं
  2. फल एवं हरी सब्ज़ियां खाएं
  3. आँखों पर ठन्डे पानी के हलके छींटें मारें
  4.  पपीते का सेवन
  5.  संतुलित आहार लें
  6.  नियमित आँखों की जांच कराएं
  7. लगातार एकटक न देखें
  8. योग अपनाएं 
  9. हरी घास पर नंगे पैर चलें
  10. आखों पर खीरे से ठंडक  
  11. पानी पीयें 

गुलाब जल से आँखें धोएं
आँखों को ठंडक पहुँचाने के लिए गुलाब जल से आँखों को धोएं। इससे आँखें साफ़ होती हैं। ये गुलाब जल बाज़ार में आसानी से उपलब्ध है।

फल एवं हरी सब्ज़ियां खाएं
प्रतिदिन के भोजन में फलों एवं हरी सब्ज़िओं का सेवन अधिक से अधिक करें। इससे आँखों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक पोषक तत्व आपको मिल जाते हैं। पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करना, विटामिन की गोलियां खाने से कहीं बेहतर है।   

आँखों पर ठन्डे पानी के हलके छींटें मारें
 सुबह उठकर और रात को सोते समय ठन्डे पानी के हलके छींटें मार कर आँखों को धोएं। ऐसा करने से आपकी आँखें स्वस्थ तथा निरोग रहती हैं। तथा आँखों की रौशनी भी बरक़रार रहती है।

पपीते का सेवन 
आप अपनी आँखों की रौशनी को बढाने के लिए अन्य फलों के साथ-साथ पपीते का भी सेवन अवश्य करें। पपीता आँखों की रौशनी के लिए बहुत लाभदायक होता है।

संतुलित आहार लें
आवंले का मुरब्बा खाएं या एक कच्चा आंवला रोज़ खाएं, इससे भी आंखों को लाभ होता है। सप्ताह में कम से कम दो दिन मछली खाए। मछली खाने से आपको आँखों में होने वाली आई-सिंड्रोम(eye syndrome) की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। आँखों की रौशनी बढ़ने के लिए हरी सब्जिओं के साथ-साथ दालों का सेवन भी अवश्य करें। इनमें अत्यधिक मात्रा में विटामिन्स एवं प्रोटीन पाए जाते हैं। 

नियमित आँखों की जांच कराएं
आँखों को स्वस्थ रखने का बहुत ही अचूक उपाय। अगर आपको स्पष्ट दिखाई देता है और आँखों में किसी प्रकार की समस्या नहीं है। फिर भी आपको एक वर्ष में एक बार अपनी आँखों की नियमित रूप से जांच करवानी चाहिए। जांच करवाने से आपको आँखों में होने वाली समस्या के विषय में पहले से ही जानकारी मिल जाती है। इस प्रकार से आँखों के समस्त रोगों से बचा जा सकता है।

लगातार एकटक न देखें
अक्सर देखा जाता है कि जो लोग कंप्यूटर पर कार्य करते हैं। वह लोग अपने कार्य में इतना खो जाते हैं कि अपनी आँखों की पलकें झपकाना ही भूल जाते हैं। ऐसा करना आँखों के लिए हानिकारक होता है। आँखों कि पलकों का बार-बार झपकना एक प्रकार की सामान्य प्रक्रिया होती है। कंप्यूटर पर काम करने वाले लोगों को प्रति एक सेकंड में कम से कम चार बार आँखों को झपकाना चाहिए। आँखों की पलकें बार-बार झपकते रहने से हमारी आँखों में नमी बनी रहती है। इससे आपकी आँखें तरो-ताज़ा रहती हैं। 

योग अपनाएं
आँखों की रौशनी बढ़ाने के उपाय में योग भी एक कारगर विधि साबित हुई है। प्रतिदिन योग करने से आप अपनी आँखों की रौशनी बढाने के साथ-साथ, आँखों के समस्त रोगों से भी निजात पा सकते हैं। इसके लिए अनुलोम-विलोम, सिद्धासन, पद्मासन, शीर्षासन, सुखासन, सर्वागासन तथा हलासन करना चाहिए। नियमित योग करने से आपकी आँखों पर लगा चश्मा भी हट सकता है। 

हरी घास पर नंगे पैर चलें
सुबह उठकर पार्क या खुले मैदान मे जहाँ हरी घास हो उसपर नंगे पाँव चलें। इससे ऑंखें स्वस्थ रहती हैं तथा आँखों की रौशनी में वृद्धि होती है।

आखों पर खीरे से ठंडक यदि आप अधिक समय से लगातार कई घंटे तक काम करते हैं। ऐसे में आपकी आँखें थक जाती है। आँखों को ठंडा तथा ताज़ा करने के लिए खीरे को स्लाइस बनाकर आँखों पर रखकर आराम करें।

पानी पीयें
कहते हैं कि जल ही जीवन है। इसलिए अधिक से अधिक मात्रा में पानी पीएं। अधिक पानी पीने से आँखों की रौशनी में वृद्धि होती है। कम पानी पीने से भी समस्या हो सकती है। इसलिए एक दिन में कम से कम तीन से चार लीटर पानी पीयें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Consuming 2 spoons of ghee on an empty stomach everyday will bring terrible changes in the body
Ayurveda

रोज़ खाली पेट 2 चम्मच घी खाने से शरीर में होंगे भयंकर बदलाव

सुबह उठकर खाली पेट सिर्फ 1 चम्मच देसी घी से आपके शरीर को मिलेंगे ये 6 गजब के फायदे, शरीर रहेगा चुस्त-दुरुस्तहेल्दी रहने के लिए