अजीनोमोटो क्या है और यह हमारे स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करता है

Ayurveda

 MSG का उपयोग दशकों से खाद्य योज्य के रूप में किया जाता रहा है। इन वर्षों में, FDA ने MSG वाले खाद्य पदार्थों के प्रतिकूल प्रतिक्रियाओं की कई महत्वपूर्ण रिपोर्ट प्राप्त की हैं। इन प्रतिक्रियाओं – MSG लक्षण जटिल के रूप में जाना जाता है

मोनोसोडियम ग्लूटामेट (MSG) एक स्वाद बढ़ाने वाला है जो आमतौर पर चीनी भोजन, डिब्बाबंद सब्जियों, सूप और प्रसंस्कृत मीट में जोड़ा जाता है। खाद्य और औषधि प्रशासन (एफडीए) ने एमएसजी को एक खाद्य घटक के रूप में वर्गीकृत किया है जो “आमतौर पर सुरक्षित माना जाता है”, लेकिन इसका उपयोग विवादास्पद बना हुआ है। इस कारण से, जब MSG को भोजन में जोड़ा जाता है, तो FDA को लेबल पर सूचीबद्ध होने की आवश्यकता होती है।

 

MSG का उपयोग दशकों से खाद्य योज्य के रूप में किया जाता रहा है। इन वर्षों में, FDA ने MSG वाले खाद्य पदार्थों के प्रतिकूल प्रतिक्रियाओं की कई महत्वपूर्ण रिपोर्ट प्राप्त की हैं। इन प्रतिक्रियाओं – MSG लक्षण जटिल के रूप में जाना जाता है – में शामिल हैं:

  • सरदर्द
  • फ्लशिंग
  • पसीना आना
  • चेहरे का दबाव या जकड़न
  • चेहरे, गर्दन और अन्य क्षेत्रों में सुन्नपन, झुनझुनी या जलन
  • तीव्र, स्पंदन दिल की धड़कन (दिल की धड़कन)
  • छाती में दर्द
  • जी मिचलाना
  • दुर्बलता

हालांकि, शोधकर्ताओं ने एमएसजी और इन लक्षणों के बीच एक कड़ी का कोई निश्चित प्रमाण नहीं पाया है। हालांकि शोधकर्ता स्वीकार करते हैं कि कुछ प्रतिशत लोगों में एमएसजी के लिए अल्पकालिक प्रतिक्रिया हो सकती है। लक्षण आमतौर पर हल्के होते हैं और उपचार की आवश्यकता नहीं होती है। प्रतिक्रिया को रोकने का एकमात्र तरीका एमएसजी युक्त खाद्य पदार्थों से बचना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Consuming 2 spoons of ghee on an empty stomach everyday will bring terrible changes in the body
Ayurveda

रोज़ खाली पेट 2 चम्मच घी खाने से शरीर में होंगे भयंकर बदलाव

सुबह उठकर खाली पेट सिर्फ 1 चम्मच देसी घी से आपके शरीर को मिलेंगे ये 6 गजब के फायदे, शरीर रहेगा चुस्त-दुरुस्तहेल्दी रहने के लिए